Meri Kahania

नए साल पर PPF वालों को मिलेगी सौगात, जानें सरकार का प्लान

भले ही आरबीआई ने इस महीने की शुरुआत में लगातार पांचवीं बार ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन सरकार की ओर से इस महीने के अंत में – 29 दिसंबर को जनवरी-मार्च 2024 के लिए पीपीएफ, एनएससी आदि जैसी छोटी स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज दरों में बदलाव करने की उम्मीद है.
 
नए साल पर PPF वालों को मिलेगी सौगात, जानें सरकार का प्लान

Meri Kahania, New Delhi: जानकारों की मानें तो गवर्नमेंट सिक्योरिटीज यील्ड के रुझान को देखते हुए, स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरें बढ़ाए जाने की संभावना है.

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च के चीफ इकोनॉमिस्ट और सीनियर डायरेक्टर (पर्सनल फाइनेंस ) सुनील सिन्हा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पीपीएफ, एनएससी आदि जैसी स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरें अब बाजार से जुड़ी हुई हैं और 10-साल की जी-सेक यील्ड के साथ मिलकर चलती हैं. इसलिए, इन योजनाओं पर दी जाने वाली ब्याज दर बढ़ने की संभावना है.

एक सीनियर बैंकर ने मीडिया रिपोर्ट में कहा कि सरकार स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज दरों पर फैसला लेने से पहले देश की लिक्विडिटी और महंगाई पर भी नजर रखती है.

हालांकि पीपीएफ, एनएससी और केवीपी समेत स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरों की हर तिमाही समीक्षा की जाती है. मौजूदा समय में स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरें 4 फीसदी (पोस्ट ऑफिस सेविंग डिपॉजिट) और 8.2 फीसदी (सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम) के बीच हैं.

स्मॉल सेविंग स्कीम्स मौजूदा ब्याज दरें-

स्कीम का नाम ब्याज दर (फीसदी में)-

  • सेविंग डिपॉजिट - 4
  • 1-साल की ​एफडी - 6.9
  • 2-साल की ​एफडी - 7
  • 3-साल की ​एफडी - 7
  • 5-साल की ​एफडी - 7.5
  • 5-वर्षीय रिकरिंग डिपॉजिट - 6.7
  • नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) - 7.7
  • किसान विकास पत्र: - 7.5 (115 महीने में मैच्योर होगा)
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड - 7.1
  • सुकन्या समृद्धि अकाउंट- 8
  • सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम - 8.2
  • मंथली इनकम स्कीम - 7.4

तीन कैटेगिरी में शामिल है स्माॉल सेविंग स्कीम-
स्मॉल सेविंग स्कीम 3 कैटेगिरी सेविंग डिपॉजिट, पब्लिक सिक्योरिटी स्कीम और मंथली इनकम स्कीम शामिल है. सेविंग डिपॉजिट में 1-3-साल की एफडी और 5-साल की आरडी शामिल हैं.

इनमें नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) और किसान विकास पत्र (केवीपी) जैसे सेविंग सर्टिफिकेट भी शामिल है. पब्लिक सिक्योरिटी स्कीम्स में पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि अकाउंट और सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम शामिल हैं.

मंथली इनकम स्कीम में मंथली इनकम अकाउंट शामिल है. चालू अक्टूबर-दिसंबर 2023 तिमाही के लिए, सरकार ने पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि, वरिष्ठ नागरिक बचत योजनाओं और डाकघर एफडी जैसी स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था.

केवल 5-साल की आरडी में 0.20 फीसदी का इजाफा किया गया था और ब्याज दरों को 6.7 फीसदी कर दिया गया था.