Meri Kahania

RBI की बड़ी कार्रवाई, 4 बैंकों के ग्राहकों पर पड़ेगा सीधा असर?

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ग्राहकों के हित को ध्यान में रखते हुए बैंकों पर कड़ी निगरानी रखती है. जो भी बैंक नियमों की अवहेलना करते हैं और उनके खिलाफ आरबीआई द्वारा कड़ी कार्रवाई (RBI Action on Cooperative Banks) की जाती है.
 
RBI की बड़ी कार्रवाई, 4 बैंकों के ग्राहकों पर पड़ेगा सीधा असर?

Meri Kahania, New Delhi: अब आरबीआई ने पांच कोऑपरेटिव बैंकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की. केंद्रीय बैंक ने चार बैंकों पर भारी जुर्माना लगाया और एक बैंक का लाइसेंस ही निरस्त कर दिया गया.

यूपी के बैंक का लाइसेंस हुआ निरस्त-

आरबीआई ने उत्तर प्रदेश में सीतापुर के अर्बन कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड का लाइसेंस नियमों की अनदेखी करने के लिए रद्द कर दिया. रिपोर्ट में आरबीआई ने कहा कि इस कोऑपरेटिव बैंक के पास संचालन के लिए पूंजी नहीं बची. इतना ही नहीं इस बैंक में आगे कमाई की कोई भी उम्मीद नहीं दिख रही. इसलिए इस बैंक को बंद किया जा रहा है.

किन बैंकों पर लगा जुर्माना-

भारतीय रिजर्व बैंक ने चार कोऑपरेटिव बैंक पर जुर्माना लगाया. जिसमें पाटन कोऑपरेटिव बैंक, राजर्षि शाहू सहकारी बैंक, डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल बैंक और प्राथमिक शिक्षक सहकारी बैंक शामिल है. इन चारों बैंकों में से तीन बैंकों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना और एक अन्य बैंक पर दस हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया.

किन नियमों का हो रहा था उल्लंघन-
डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल बैंक नाबार्ड की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहा था, पाटन कोऑपरेटिव बैंक द्वारा केवाईसी नियमों की अनदेखी हुई, शिक्षक सहकारी बैंक ने आरबीआई के नियमों के विरुद्ध जाकर गोल्ड लोन मुहैया कराया इसके अलावा राजर्षि शाहू सहकारी बैंक ने न्यूनतम बैलेंस के नियमों का पालन नहीं किया.

आरबीआई ने कमिश्नर एवं रजिस्ट्रार, उत्तर प्रदेश से भी बैंक को बंद करने के लिए उपयुक्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. आरबीआई का कहना है कि बैंकों को चलाना इस बैंक का संचालन करना ग्राहकों के हित में नहीं है. बैंक ने ग्राहकों को भी पूरा भुगतान नहीं किया.

किन लोगों का डूबेगा पैसा ?
आरबीआई ने कमिश्नर एवं रजिस्ट्रार, उत्तर प्रदेश से भी बैंक को बंद करने के लिए उपयुक्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. आरबीआई का कहना है कि बैंकों को चलाना इस बैंक का संचालन करना ग्राहकों के हित में नहीं है. बैंक ने ग्राहकों को भी पूरा भुगतान नहीं किया.