100 रुपये के नोट को लेकर नई गाइडलाइंस जारी, नजरअंदाज करना पड़ेगा महंगा!
Meri Kahania

100 रुपये के नोट को लेकर नई गाइडलाइंस जारी, नजरअंदाज करना पड़ेगा महंगा!

देश में नकली नोटों का कारोबार काफी लंबा चौड़ा है और इस बात को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के आंकड़े साबित कर रहे हैं.
 
100 रुपये के नोट को लेकर नई गाइडलाइंस जारी, नजरअंदाज करना पड़ेगा महंगा!

Meri Kahania, New Delhi: इनमें सबसे अधिक 100 रुपये के नोट हैं. कुल 11073600 रुपये मूल्‍य के 100 के नोट पकड़े गए हैं. 100 रुपये के नोट हमारे दैनिक लेन-देन का हिस्सा हैं.

अगर आपको 100 रुपये के असली और नकली नोट की पहचान करनी है, तो इसके लिए आसान तरीका बता रहे हैं.

नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक ने बाजार में 2000 और 500 रुपये के नए नोट उतारे थे. इसके बाद 100, 200, 50, 20 और 10 रुपये के भी नोट भी बाजार में आए. 100 रुपये के असली नए नोट की पहचान करने का पहला तरीका यह है

कि असली नोट पर सामने वाले दोनों हिस्से पर देवनागरी में 100 लिखा है. वहीं नोट के बीच में महात्मा गांधी की फोटो लगी है. साथ ही 100 रुपये के असली नोट पर RBI, भारत, INDIA और 100 छोटे अक्षरों में लिखा है. 

100 रुपये के नए वाले नोट को जब आप मोड़ेंगे तो इसपर लगे तार का रंग बदलेगा. यह हरे नीले रंग का हो जाएगा. इसके अलावा नोट पर 100 का वॉटरमार्क भी है. नोट के पीछे छपाई का वर्ष, स्वच्छ भारत का लोगो और स्लोगन, भाषा पैनल, 'रानी की वाव' का च‍ित्र और देवनागरी में मूल्यवर्ग अंक 100 लिखा है. 

100 रुपये के पुराने वाले नोट पर सामने की तरफ त्रिभुज की आकृति बनी होती है, जिसे आप छूकर आसानी से 100 रुपये की नोट की पहचान कर सकते हैं. इसके अलावा इस नोट पर पीछे की तरफ फूल बना होता है जिसे दूर से देखने पर उसमें पूरा 100 दिखाई देता है.

इसके अलावा 100 रुपये की पहचान के लिए सीधे हाथ की तरफ अशोक स्तंभ का प्रतीक है और महात्मा गांधी का चित्र, इलेक्ट्रोटाइप (100) वॉटरमार्क में नजर आएगा.

WhatsApp Group Join Now