Meri Kahania

Post Office- पोस्ट ऑफिस में FD खोलने पर मिलेगा जबरदस्त फायदा..

डाकघर सावधि जमा (पोस्ट ऑफिस एफडी) बैंक सावधि जमा के समान है! जहां आप एक निश्चित समय के लिए पैसा जमा कर सकते हैं और उस पर गारंटीशुदा रिटर्न कमा सकते हैं।
 | 
पोस्ट ऑफिस में FD खोलने पर मिलेगा जबरदस्त फायदा..

Meri Kahania, New Delhi: यह उन लोगों के लिए एक अच्छा निवेश विकल्प है जो एक निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त राशि जमा करना चाहते हैं। मैच्योरिटी के समय आपको पोस्ट ऑफिस एफडी अकाउंट पर जमा की गई रकम ब्याज के साथ मिल जाएगी.

ग्रामीण और उपनगरीय इलाकों में बैंक एफडी की तुलना में पोस्ट ऑफिस एफडी योजनाएं अधिक पसंद की जाती हैं। आपके पास 1, 2, 3 और 5 साल के पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट के बीच चयन करने का विकल्प है।

अलग-अलग अवधि के लिए ब्याज दरें अलग-अलग होती हैं. जबकि पांच साल की फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दर सबसे ज्यादा है.

पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट ऐसा ही एक विकल्प है. जहां आपको अपनी जमा राशि पर निश्चित ब्याज मिलेगा और पैसा पूरी तरह सुरक्षित भी रहेगा.

क्योंकि, डाकघर (इंडिया पोस्ट) में जमा राशि पर भारत सरकार की संप्रभु गारंटी होती है, जबकि बैंकों में जमा राशि अधिकतम 5 लाख रुपये तक ही सुरक्षित होती है। इस तरह आप हर महीने छोटी-छोटी बचत करके लाखों का फंड तैयार कर सकते हैं.

पोस्ट ऑफिस एफडी ब्याज दर

एक साल की सावधि जमा पर प्रति वर्ष 5.5% की ब्याज दर मिलती है। विभिन्न अवधि के लिए पोस्ट ऑफिस एफडी ब्याज दरें जानने के लिए दी गई तालिका देखें।

सावधि ब्याज दर

  • 1 वर्ष के लिए 5.5%
  • 2 साल के लिए 5.5%
  • 3 साल के लिए 5.5%
  • 5 वर्षों के लिए 6.7%

पोस्ट ऑफिस में फिक्स्ड डिपॉजिट की दरें समय-समय पर तय की जाती हैं। इसलिए, खाता खोलने से पहले वर्तमान डाकघर सावधि जमा ब्याज दर की जांच अवश्य कर लें।

5 साल में 5000 से 3.48 लाख हो जाएंगे

मान लीजिए कोई निवेशक 5 साल तक पोस्ट ऑफिस आरडी में हर महीने 5000 रुपये निवेश करता है तो उसे मैच्योरिटी पर 3.48 लाख रुपये मिलेंगे। दरअसल, पोस्ट ऑफिस के फिक्स्ड डिपॉजिट पर फिलहाल 5.8 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. ब्याज तिमाही आधार पर चक्रवृद्धि होता है.

डाकघर सावधि जमा सुविधा 2023 - डाकघर में एफडी खोलने पर

  • आप किसी भी डाकघर में कितने भी खाते खोल सकते हैं।
  • कोई भी व्यक्ति नकद/चेक द्वारा खाता खोल सकता है। चेक के मामले में, चेक की प्राप्ति की तारीख को खाता खोलने की तारीख माना जाएगा।
  • नामांकन की सुविधा खाता खोलते समय (पोस्ट ऑफिस एफडी अकाउंट) और खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है।
  • आप एक खाते को एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित कर सकते हैं।
  • कोई भी व्यक्ति किसी नाबालिग के नाम पर खाता खोल सकता है और 10 साल या उससे अधिक उम्र का कोई नाबालिग भी खाता खोल और संचालित कर सकता है।
  • कोई भी व्यक्ति आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के तहत 5 साल के पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट खाते के तहत निवेश पर कर लाभ प्राप्त कर सकता है।

डाकघर एफडी ऑनलाइन भुगतान सुविधा

यह सुविधा वर्तमान में इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सर्विस (ईसीएस) के माध्यम से डाकघर आवर्ती जमा के लिए उपलब्ध है। इसके अलावा, यदि आपके पास कोई एजेंट है, तो वह पोस्ट ऑफिस एजेंट पोर्टल का उपयोग कर सकता है।

और अपने निवेश का ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं! डाकघर एफडी ऑनलाइन भुगतान की जानकारी अभी तक स्पष्ट नहीं! हालाँकि, आप इस संबंध में सटीक विवरण के लिए अपनी डाकघर शाखा से पूछ सकते हैं।

डाकघर बैंक से अधिक सुरक्षित क्यों है?

छोटे बचत निवेशकों के लिए डाकघर (इंडिया पोस्ट) की बचत योजनाएं सुरक्षित हैं! ऐसा इसलिए है क्योंकि यदि डाक विभाग राशि वापस करने में विफल रहता है तो डाकघर में जमा किए गए धन पर संप्रभु गारंटी होती है।

यानी अगर किसी भी परिस्थिति में डाक विभाग निवेशकों का पैसा लौटाने में विफल रहता है तो यहां सरकार आगे आती है और निवेशकों के पैसे की गारंटी देती है. किसी भी हालत में आपका पैसा नहीं फंसेगा! पोस्ट ऑफिस स्कीम में फिक्स्ड डिपॉजिट के पैसों का इस्तेमाल सरकार अपने कामकाज के लिए करती है.

Around The Web

Trending News

You May Like

Recommended