Meri Kahania

senior citizen: सीनियर सिटीजन कार्ड के मिलते है हजारों फायदे, जानिए बनवाने का पुरा प्रोसेस

अगर आप भी सीनियर सिटीजन में आते है तो आपको बिना देरी किए सीनियर सिटीजन कार्ड बनवा लेना चाहिए। इस एक कार्ड से आपको हजारों फायदे मिलते है।
 
सीनियर सिटीजन कार्ड के मिलते है हजारों फायदे, जानिए बनवाने का पुरा प्रोसेस
Meri Kahani: दिल्ली, सीनियर सिटीजन की भारी तादाद और उनकी रोजमर्रा की दुश्वारियों को देखते हुए सरकार सीनियर सिटीजन कार्ड बनाती है. यह कार्ड 60 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनाया जाता है जिसे सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड भी कहते हैं. यह कार्ड भी एक तरह का पहचान पत्र है जो कार्डधारक की डिटेल बताता है. इस कार्ड की मदद से सीनियर सिटीजन को कई खास सुविधाएं दी जाती हैं. सरकारी के साथ ही प्राइवेट स्कीम का लाभ भी इस कार्ड की बदौलत दिया जाता है. 

इस कार्ड में सीनियर सिटीजन का ब्लड ग्रुप, इमरजेंसी कांटेक्ट नंबर, एलर्जी और अन्य मेडिकेशन डिटेल दी गई रहती है. तो आइए जानें कि सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड कैसे बनता है. सीनियर सिटीजन कार्ड राज्य सरकारें अपने स्तर पर बनाती हैं. इसके लिए राज्य सरकार की ऑनलाइन वेबसाइट पर अप्लाई करना होता है. एप्लिकेशन के साथ कुछ कागजात भी देने होते हैं ताकि आवेदन के वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी की जा सके.

1-एज प्रूफ के लिए कागजात
इसके लिए पासपोर्ट, पैन कार्ड, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट दे सकते हैं


2-निवास प्रमाण पत्र के कागजात
इसमें वैध दस्तावेज जैसे राशन कार्ड, पासपोर्ट, इलेक्शन कार्ड, बिजली या फोन का बिल दे सकते हैं जो आवेदक के नाम से हो

3-मेडिकल इनफॉर्मेशन कागजात
इसमें ब्लड रिपोर्ट, मेडिकेशन और एलर्जी की रिपोर्ट देनी होती है

कैसे करते हैं अप्लाई

सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड बनाने के लिए राज्य सरकार की वेबसाइट पर अप्लाई करना होता है. इसका फॉर्म राज्य सरकार की वेबसाइट पर ही मिलता है जहां इसे ऑनलाइन भरा जा सकता है. अगर आप दिल्ली में रहते हैं और दिल्ली का सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड बनवाना चाहते हैं तो इस लिंक http://www.delhipolice.nic.in/seniorcitizen/index.html पर क्लिक कर सकते हैं. इसी तरह अन्य राज्य सरकारों की ऑनलाइन वेबसाइट पर भी फॉर्म उपलब्ध हैं जहां इसे भरकर अप्लाई किया जा सकता है.

आवेदक को दो फोटोग्राफ और पते के प्रमाण की एक कॉपी और एक आयु प्रमाण दस्तावेज के साथ आवेदन पत्र को रजिस्टर और जमा करना होगा. इसके बाद, आवेदक पंजीकरण प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ सकता है. प्रत्येक आवेदक जिसने जरूरी दस्तावेज जमा किए हैं और पंजीकरण प्रक्रिया पूरी कर ली है, उसे आवेदन की मंजूरी और दस्तावेजों के वेरिफिकेशन के बाद वरिष्ठ नागरिक पहचान पत्र प्राप्त होगा. अधिक जानकारी के लिए या वरिष्ठ नागरिक पहचान पत्र प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रक्रिया के बारे में अन्य जानकारी के लिए, टोल-फ्री नंबर 1291 या 100 पर अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं.

सीनियर सिटीजन कार्ड का फायदा

रेलवे में पहले सीनियर सिटीजन को किराये में रियायत दी जाती थी, लेकिन अभी बंद है. हालांकि अब भी अलग से टिकट काउंटर मुहैया कराया जाता है. फ्लाइट टिकट में रियायत दी जाती है. इनकम टैक्स अन्य लोगों की तुलना में कम लगता है, साथ ही कुछ मामलों में रिटर्न भरने से छूट मिलती है. एफडी पर जनरल पब्लिक से अधिक ब्याज मिलता है. पोस्ट ऑफिस इनवेस्टमेंट स्कीम में आम लोगों की तुलना में अधिक लाभ और सुविधाएं मिलती हैं. सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज और सरकारी अस्पतालों में रियायती दर पर इलाज दिया जाता है. सरकारी कंपनी एमटीएनएल और बीएसएनएल के लिए अप्लाई करने पर रजिस्ट्रेशन चार्ज में छूट और मंथली रेंटल चार्ज में भी छूट दी जाती है