पैन कार्ड धारकों से सरकार ने वसूले इतने रुपये, इसलिए लगाया जुर्माना!
Meri Kahania

पैन कार्ड धारकों से सरकार ने वसूले इतने रुपये, इसलिए लगाया जुर्माना!

केंद्र सरकार ने 30 जून 2023 तक पैन-आधार लिंक कराने के लिए दी गई आखिरी तारीख के बाद भी लोगों से लिंक कराने में देरी करने वालों से 2,125 करोड़ रुपये की पेनल्टी वसूली है.
 
पैन कार्ड धारकों से सरकार ने वसूले इतने रुपये, इसलिए लगाया जुर्माना!

Meri Kahania, New Delhi: इसमें से हर पैन कार्ड होल्डर से सरकार ने 1,000 रुपये की पेनल्टी वसूलने के बाद ही पैन-आधार लिंक किया गया है. इस समय तक कुल 2.125 करोड़ लोगों ने पैन-आधार लिंक कराया है और सरकार ने उनसे 2,125 करोड़ रुपये की वसूली की है.

संसद के शीतकालीन सत्र में राज्यसभा सांसद फूलो देवी नेताम ने वित्त मंत्री से पैन-आधार लिंक करने वालों और डीएक्टिवेट किए गए पैन कार्ड की संख्या के बारे में प्रश्न किया.

उत्तर में वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने बताया कि 30 जून तक 54,67,74,649 पैन कार्ड को आधार से लिंक किया गया है और किसी भी पैन कार्ड को डीएक्टिवेट नहीं किया गया है.

सरकार ने दिया जवाब-
फूलो देवी ने सरकार से पूछा कि कितने लोगों ने 1,000 रुपये की पेनल्टी देकर पैन-आधार को लिंक किया है और सरकार ने उनसे कितनी रकम वसूली है.

वित्त राज्य मंत्री ने जवाब देते हुए बताया कि 1 जुलाई 2023 से 30 नवंबर 2023 तक 2.125 करोड़ लोगों ने 1,000 रुपये की पेनल्टी देकर पैन-आधार लिंक किया है और सरकार ने इसके जरिए 2,125 करोड़ रुपये की वसूली की है.

क्या है नुकसान?
वित्त राज्य मंत्री ने बताया कि पैन-आधार को न लिंक करने पर इनऑपरेटिव होने के कारण कोई टैक्स रिफंड नहीं दिया जाता है और न ही इसके लिए ब्याज का भुगतान होता है.

अगर टैक्सपेयर के बकाये में कोई टैक्स होता है तो उससे ज्यादा रेट पर टैक्स वसूला जाता है. देश में लगभग 70 करोड़ पैन कार्ड धारक हैं, जिनमें से 60 करोड़ लोगों ने पैन-आधार को लिंक किया है, जिसमें से 2.125 करोड़ ने पेनल्टी देकर लिंक किया है.

WhatsApp Group Join Now